नरेगा के तहत देश में मानव दिवस सृजन करने में राजस्थान रहा प्रथम

नरेगा के तहत देश में मानव दिवस सृजन करने में राजस्थान रहा प्रथम

प्रदेश ने पूर्ण किया नरेगा के तहत 30 करोड़ मानव दिवस का लक्ष्य

 - उपमुख्मंत्री

नरेगा के तहत देश में मानव दिवस सृजन करने में प्रदेश रहा प्रथम

 

 

जयपुर, 28 फरवरी। उप मुख्यमंत्री श्री सचिन पायलट ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत वर्ष 2019-20 के लिए राज्य के लिए अनुमोदित श्रम बजट 30 करोड़ मानव दिवस के विरूद्ध प्रदेश में 30.04 करोड़ मानव दिवस का रोजगार प्रदान कर 100.12 प्रतिशत उपलब्धि अर्जित की है। उन्होंने बताया कि नियोजित 99.6 प्रतिशत अकुशल श्रमिकों को 15 दिवस के भीतर मजदूरी का भुगतान करके प्रदेश ने देश के शीर्ष तीन राज्यों में अपना स्थान बनाया है।

 

श्री पायलट ने बताया कि प्रदेश में नरेगा योजना के तहत काम चाहने वाले समस्त श्रमिकों की मांग को दर्ज कर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है। इसी कड़ी में वर्ष 2019-20 के लिए राज्य के लिए अनुमोदित श्रम बजट 30 करोड़ मानव दिवस को भारत सरकार से बढ़वाकर 33.34 करोड़ मानव दिवस करवाया गया। इस वित्तीय वर्ष में 5.73 लाख परिवारों ने 100 दिन का रोजगार पूर्ण किया है तथा चालू वित्तीय वर्ष के अन्त तक 10 लाख परिवारों को 100 दिन का रोजगार पूर्ण करवाने का लक्ष्य है। इस वर्ष में 83 प्रतिशत व्यक्तिगत लाभ के कार्य करवाये गये हैं वहीं कृषि एवं सम्बद्ध कार्यों पर 66.3 प्रतिशत राशि व्यय की गई है। 

 

उन्होंने बताया कि योजना के कार्यों की जियो टेगिंग, भौगोलिक सूचना प्रणाली (जी.आई.एस.) एवं रिमोट सैंसिंग द्वारा योजना निर्माण में राज्य अग्रणी रहा है। सेक्योर सॉफ्ट के माध्यम से स्वीकृतियां जारी करना पायलट आधार पर जयपुर जिले में शुरू किया गया था जिसके बेहतर परिणाम आने पर इसे मार्च, 2019 से सम्पूर्ण प्रदेश में लागू किया गया है। इन तकनीकियों के माध्यम से नरेगा योजना का क्रियान्वयन बेहतर होने के साथ ही इनमें पारदर्शिता आयी है।